Vishwakarma puja | Vishwakarma puja mantra | happy vishwakarma puja shayari | Vishwakarma jayanti |Vishwakarma puja 2021

Vishwakarma puja | Vishwakarma puja mantra | happy vishwakarma puja shayari |  Vishwakarma jayanti |Vishwakarma puja 2021.Vishwakarma Puja Ya Vishwakarma Jayanti Is Din Baba Vishwakarma Ji Ka janm Hua Tha. Es Article  Men Shayari, Status, Quotes, Date, Janm Aadi Ki Puri Jankari Dunga. vishwakarma puja image, mantra, puja kab hai, happy vishwakarma puja shayari Aadi Provide Kr Raha Hun.

Vishwakarma-puja,Vishwakarma-puja-mantra,happy-vishwakarma-puja-shayar,Vishwakarma-jayanti

Vishwakarma puja | Vishwakarma puja mantra | happy vishwakarma puja shayari |  Vishwakarma jayanti |Vishwakarma puja 2021

तो दोस्तों इस बेहतरीन से पोस्ट में मैंने बाबा विश्वकर्मा जी के पूजा के शुभ अवसर पर बहुत सी इमेजेज, फोटोज, आदि ऐड किये हैं। जिसे की आप अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर साझा कर सकते हैं। हम अपने अपनों को प्रत्येक त्योहारों में विश करते हैं। इसी लिए Vishwakarma puja के उपलक्ष में ये पोस्ट हमारे और आपके रिश्तेदारों को समर्पित। 
Aapki ही सुंदर रचना,
सुख और दुःख में हमें,
नाम आपका Hardum जपना.
हैप्पी विश्वकर्मा पूजा

Vishwakarma puja kab hai

(प्रत्येक वर्ष बाबा विश्वकर्मा का पूजा कन्या सक्रांति को मनाई जाती है। इसी दिन भगवान विश्वकर्मा का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन को विश्वकर्मा जयंती भी कहा जाता है।)

👉इस बार 2021 में विश्वकर्मा पूजा शुक्रवार 17 सितंबर को मनाया जाएगा।
ॐ विश्वकर्मणे नमः
Nirmal हैं तुझसे बल मांगते हैं;
Karuna का प्रयास से जल मांगते हैं;
श्रद्धा का प्रभु जी Phal मांगते हैं।
विश्वकर्मा पूजा की Shubh कामनाएं!!

happy vishwakarma puja shayari

vishwakarma-puja
ना तीर से ना तलवार से,
ये दुनिया बनी है विश्वकर्मा के औजार से.
विश्वकर्मा जयंती की शुभकामनाएं
vishwakarma-puja-mantra
Auzaar सभी पूज के ,रूप दिये पाषाण।
शिल्पकार विश्वकर्मा ,किये सृष्टि निर्माण।।
vishwakarma-puja-image
Aap और आपके पूरे परिवार को
विश्वकर्मा Puja की हार्दिक शुभकामनाएं।
vishwakarma-puja-2021
देश एवं प्रदेश के आर्थिक Vikash में
तकनीकी विशेषज्ञों का महत्वपूर्ण Yogdan होता है.
विश्वकर्मा जयंती सृजन व Nirman के प्रति हम सबको
प्रतिबद्ध होने का Avsar प्रदान करता है.
आप सभी को Vishwakarma jayanti की हार्दिक शुभकामनाएं
vishwakarma-puja (3)
भरे रहें Dhan धान्य से ,होय वृद्धि व्यापार।
वास्तु पुत्र देव करते ,सभी Sapan साकार ।।

Vishwakarma puja mantra

Vishwakarma पूजा मंत्र...
ओम आधार शक्तपे नम:, ओम कूमयि नम:, ओम अनन्तम नम:, पृथिव्यै नम:।

पूजा के समय रुद्राक्ष की माला से Vishwakarma पूजा मंत्र का जाप करना चाहिए। जाप के समय इस बात का ध्यान रखें कि मंत्र का उच्चारण सही हो। गलत उच्चारण करने से आपको उसका फल नहीं मिलेगा।

Vishwakarma जी की आरती...

हम सब उतारे आरती तुम्हारी हे Vishwakarma, हे Vishwakarma।

युग–युग से हम हैं तेरे पुजारी, हे Vishwakarma...।।

मूढ़ अज्ञानी नादान हम हैं, पूजा विधि से अनजान हम हैं।

भक्ति का चाहते वरदान हम हैं, हे Vishwakarma...।।

निर्बल हैं तुझसे बल मांगते, करुणा का प्यास से जल मांगते हैं।

श्रद्धा का प्रभु जी फल मांगते हैं, हे Vishwakarma...।।

चरणों से हमको लगाए ही रखना, छाया में अपने छुपाए ही रखना।

धर्म का योगी बनाए ही रखना, हे Vishwakarma...।।

सृष्टि में तेरा है राज बाबा, भक्तों की रखना तुम लाज बाबा।

धरना किसी का न मोहताज बाबा, हे Vishwakarma...।।

धन, वैभव, सुख–शान्ति देना, भय, जन–जंजाल से मुक्ति देना।

संकट से लड़ने की शक्ति देना, हे Vishwakarma...।।

तुम विश्वपालक, तुम विश्वकर्ता, तुम विश्वव्यापक, तुम कष्टहर्ता।

तुम ज्ञानदानी भण्डार भर्ता, हे Vishwakarma...।।

happy vishwakarma puja shayari

vishwakarma-puja (2)
विश्वकर्मा जी है प्रभु मेरे,
प्रभु हम Balak तेरे,
आप सदा इष्टदेव हमारे,
Aap हमारे घर जरूर पधारें.
हैप्पी विश्वकर्मा Puja
vishwakarma-puja (1)
विश्वकर्मा की करो जयकार 🙏करते सदा सबपर उपकार,
इनकी महिमा 🙏सबसे है न्यारी भगवान अर्ज़ सुनो हमारी।
vishwakarma-jayanti-2021
इस दुनिया में छाई है 🙏आपकी ही सुंदर रचना,
सुख और दुःख में हम नाम आपका हरदम जपना।
vishwakarma puja
सकल सृष्टि के कर्ता, रक्षक श्रुति धर्मा…!
जय विश्वकर्मा, जय श्री Vishwakarma…
विश्वकर्मा पूजा की Vishwakarma शुभकामनयें
happy-vishwakarma-puja-shayari
तुम हो सकल सृष्टि करता ज्ञान सत्य जग हित धर्ता,
तुम्हारी दृष्टि से नूर है बरसे आपके दर्शन को हम भक्त तरसे।

Vishwakarma jayanti

दोस्तों विश्वकर्मा जी को संसार का पहला इंजीनियर एवं वास्तुकार माना जाता है।  विश्वकर्मा पूजा के दिन (विश्वकर्मा जयंती के दिन )फैक्ट्रियों बड़े-बड़े उद्योगों छोटे-बड़े फैक्ट्री, उद्योगों और प्रत्येक मशीनरी वाली चीजों की पूजा की जाती है।

Radha Krishna status....👉 Krishna status

जितने भी कलाकार हैं, बुनकर हैं, शिल्पकार हैं, उद्योगपति हैं, इन सभी के घरों में बड़े ही धूमधाम से विश्वकर्मा जी का पूजा किया जाता है। और बहुत सी जगहों पर यह पूजा दीपावली के दूसरे दिन भी मनाई जाती है। विश्वकर्मा पूजा के दिन जितने भी कल कारखाने होते हैं। वो मुख्य रूप से बंद होते हैं 

पूरी दुनिया कर रहा कर्म,
इंसानियत से बड़ा हो गया है
जाति और धर्म,
कई Jagahon पर भूखे पेट,
सो जा रहे है इंसान,
उनको भोजन देना
हे विश्वकर्मा Bhagavan.
हैप्पी विश्वकर्मा पूजा

Vishwakarma puja 2021

और लोग बड़े ही खुशी के साथ भगवान विश्वकर्मा की पूजा अर्चना करते हैं। बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, दिल्ली आदि राज्यों में भगवान श्री विश्वकर्मा जी की मूर्ति स्थापित की जाती है। और रातों को जागरण होता है लोग बड़े ही हर्षोल्लास के साथ बाबा विश्वकर्मा जी का पूजा अर्चना करते हैं।

vishwakarma-puja-mantra

विश्वकर्मा पूजा को लेकर लोगों की मान्यता है कि प्राचीन काल में जितनी भी राजधानियां हुआ करती थी। उन सभी का निर्माण बाबा विश्वकर्मा जी ने ही किया था। यदि बात करें सतयुग की स्वर्ग लोक, त्रेता युग की लंका, द्वापर युग की द्वारिका और कलयुग की हस्तिनापुर आदि।

Tulsi Puja Tulsi Shaligram 👉....Vivah Dev Uthani Ekadashi

ऐसे महान जगहों का निर्माण बाबा विश्वकर्मा द्वारा ही किया गया। सुदामापुरी की रचना भी बाबा विश्वकर्मा ने ही किया है। इसलिए लोगों को धन्य संपति और ज्ञान के लिए बाबा विश्वकर्मा की पूजा अर्चना करनी आवश्यक है। क्योंकि जो क्रिएटिविटी है वह बाबा विश्वकर्मा से ही प्राप्त होता है। और इस संसार की रचना बाबा विश्वकर्मा ने ही किया है।

बाबा विश्वकर्मा की उत्पत्ति कैसे हुई 

दोस्तों एक कथा के अनुसार संसार के प्रारंभ में सर्वप्रथम श्री नारायण जी यानी कि विष्णु भगवान सागर में प्रकट हुए और उनके नाभि कमल से चतुर्मुख ब्रह्मा दृष्टिगोचर हो रहे थे। ब्रह्मा जी के पुत्र धर्म और धर्म के पुत्र वासुदेव हुए ऐसा कहा जाता है कि धर्म की वस्तु नामक स्त्री से उत्पन्न वास्तु सातवें पुत्र थे। 

जो शिल्पशास्त्र के प्रवर्तक थे उन्हीं वास्तुदेव की 'अंगिरसी' नामक पत्नी से विश्वकर्मा जी उत्पन्न हुए। पिता के जैसे ही विश्वकर्मा जी में भी वास्तुकला के अद्वितीय आचार्य बने। यही कहानी है बाबा विश्वकर्मा जी के प्रकट होने की।

vishwakarma-puja

ऐसा कहा जाता है कि भगवान विश्वकर्मा जी के कई रूप हैं जिसमें दो बाहू वाले विश्वकर्मा जी, 4 बाहू वाले, 10 बाहू वाले एवं एक मुख, चार मुख, एवं पंचमुख वाले। उनके मनु, मय, त्वष्टा, शिल्पी एवं दैवज्ञ नामक 5 पुत्र हैं। 

यह भी मान्यता है कि यह पांचो वास्तु शिल्प की अलग-अलग विधाओं में पारंगत थे। और उन्होंने कई वस्तुओं का आविष्कार किया। इस प्रसंग में मनु को लोहे से, और मय को लकड़ी से, त्वष्टा को कांसे और तांबे से शिल्पी को ईट और दैवज्ञ को सोने चांदी से जोड़ा जाता है। 

बाबा विश्वकर्मा जी के पूजा से जुड़े नियम-

  • विश्वकर्मा पूजा करने वाले सभी लोगों को पूजा के दिन अपने कारखाने, फैक्ट्रियां आदि बंद रखनी चाहिए।
  • विश्वकर्मा पूजा के दिन अपनी मशीनों की, उपकरणों की, औजारों की पूजा करने से घर में धन की वृद्धि होती है।
  • विश्वकर्मा पूजा के दिन औजारों और मशानों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए कारखानों में मशीनों को आराम देना चाहिए।
  • विश्वकर्मा पूजा के दिन तामसिक भोजन यानि मांस-मदिरा शराब आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • विश्वकर्मा पूजा के दिन अपने रोजगार में वृद्धि के लिए गरीबों और असहाय लोगों को दान-दक्षिणा देना चाहिए। 
  • विश्वकर्मा पूजा के दिन प्रत्येक लोगों को अपने बिजली उपकरण, गाड़ी की सफाई भी करनी चाहिए।

Comments

Popular posts from this blog

s letter names, s Wala photo | s अक्षर के नाम, s Wala फोटो, s name photo

A letter images 'love a photos HD' a लेटर इमेजेज 'लव अ फोटोज

kumkum Bhagya, Top quality Whatsapp Status Videos With Kumkum Bhagya cast Biography