Happy Raksha Bandhan Status || Raksha Bandhan Status in Hindi || Rakhi quotes for brother

Happy Raksha Bandhan Status, Raksha Bandhan Status in Hindi. भाई बहन के इस पवित्र पर्व राखी पर। मैं आपसभी दोस्तों के लिए बहुत ही सुन्दर राखी स्टेटस, ब
Happy Raksha Bandhan Status, Raksha Bandhan Status in Hindi. भाई बहन के इस पवित्र पर्व राखी पर। मैं आपसभी दोस्तों के लिए बहुत ही सुन्दर राखी स्टेटस, बहन और भाई के लिए शायरी। फोटो, इमेज, जो आपको कहीं और देखने को नहीं मिलेंगे मुझे उम्मीद है। आपसबों को बहुत पसंद आएगी।

Happy Raksha Bandhan Status || Raksha Bandhan Status in Hindi || Rakhi quotes for brother

Happy-Raksha-Bandhan-Status -Raksha-Bandhan-Status-in-Hindi-Rakhi-quotes-for-brother

Rakshabandhan history................
सावन का महीना आते ही दुनिया भर में मौजूद भारतीय राखी का दिन जानने के लिए उत्सुक हो जाते हैं। कोई भी रिश्तेदारी ना होने के बावजूद भी राखी से भाई बहन का बंधन निभाने का मौका मिलता है। राखी का इतिहास तो हमें महाभारत की युद्ध से ही देखने को मिलता है। भगवान श्री कृष्ण को सृति देवी नाम की चाची थी। उसने शिशुपाल नामक एक विकृत बच्चे को जन्म दिया था। बड़ों से पता चलता है कि जिस के स्पर्श से शिशुपाल स्वस्थ होगा उसी के हाथ हो वह मारा जाएगा।

एक दिन श्रीकृष्ण अपनी चाची के घर आए थे और जैसे ही श्रीति देवी ने श्रीकृष्ण के हाथों में अपने बेटे को रखा। वह बच्चा सुंदर हो गया माना की चाची यह बदलाव देखकर खुश हो गई। लेकिन उसकी मौत श्री कृष्ण के हाथों होने की संभावना से वह विचलित हो गई। वह भगवान श्री कृष्ण से प्रार्थना करने लगी। की भले ही शिशुपाल कोई भि गलती कर बैठे लेकिन उसको श्री कृष्ण के हाथों सजा नहीं मिलनी चाहिए। तो भगवान श्री कृष्ण ने उससे वादा किया कि मैं उसकी गलतियों को माफ कर दूंगा।


rakhi-quotes-for-brother


लेकिन वह अगर 100 से ज्यादा गलतियां कर बैठेगा तो मैं उसको जरूर सजा दूंगा। शिशुपाल बड़ा होकर चेरी नामक एक राज्य का राजा बन गया। वह एक राजा था और साथ ही साथ भगवान श्री कृष्ण का रिस्तेदार भी था। लेकिन वह बहुत क्रूर राजा बन गया। अपने राज्य के लोगों को बहुत सताने लगा। और बार-बार भगवान श्री कृष्ण को चुनौती देने लगा। एक समय तो उसने भरी राज्यसभा में ही भगवान श्री कृष्ण की निंदा की।

और बस शिशुपाल ने उसी दिन 100  गलतियों की सीमा पार कर दी थी। तुरंत ही भगवान श्री कृष्ण ने अपने सुदर्शन चक्र का शिशुपाल के ऊपर प्रयोग किया। इसी तरह से बहुत चेतावनी मिलने के बाद भी शिशुपाल ने अपने गुण नहीं बदले। और अंत में उसे अपनी सजा भुगतनी पड़ी।


Happy Raksha Bandhan Status || Raksha Bandhan Status in Hindi || Rakhi quotes for brother


भगवान श्री कृष्ण जब क्रोध में अपने सुदर्शन चक्र को छोड़ रहे थे। उनकी उंगली में भी चोट लगी। भगवान श्री कृष्ण के आसपास के लोग उस घाव पर कुछ बांधने के लिए इधर-उधर भागने लगे।


वहीं खड़ी द्रोपदी कुछ सोचे समझे बिना अपनी सारी के कोने को फाड़कर। भगवान श्री कृष्ण के घाव पर लपेटा। शुक्रिया प्यारी बहना तुमने मेरे कष्ट में साथ दिया है। तो मैं भी तुम्हारे कष्ट में साथ देने का वादा करता हूं। यह कहकर भगवान श्री कृष्ण ने द्रौपदी को उनकी रक्षा करने का आश्वासन दिया था। और इस घटना से रक्षा बंधन का प्रारंभ शुरू हुआ। बाद में जब कौरव ने पूरी राज सभा के सामने। द्रोपदी की साड़ी खींचकर जब उसका अपमान करने का प्रयास किया।


रक्षाबंधन


तो भगवान श्री कृष्ण ने द्रौपदी को बजाकर अपना वादा पूरा किया था। उस समय से लेकर बहनें अपने भाइयों को राखी बांध रही है। और बदले में भाई जीवन भर अपनी बहन की रक्षा करने का आश्वासन देते आ रहे हैं। सावन मास की पूर्णिमा पर राखी के अलावा कुछ और त्योहार भी मनाए जाते हैं।


Raksha Bandhan Whatsapp Status Video 2022 | Neha Kakkar Rakhi Song | Status Clinic

कुछ लोग इसी दिन अपनी यादनोपविद को भी बदलते हैं। इसीलिए इस दिन को जंध्याला पूर्णिमा भी कहते हैं।
इस दिन ओडिशा और पश्चिम बंगाल में कुछ लोग राधा और कृष्ण की मूर्तियों को पालने में रख झूला झूलाते हैं। और इस दिन को झूलन पूर्णिमा कहते हैं।


Jagannath Rath yatra ................ 👉Jagannath puri


उत्तर भारत के कुछ राज्यों में इस दिन पर गेहूं के बीज बोते हैं। और इस दिन को कजरी पूर्णिमा के नाम से पहचाना जाता है। केरल और महाराष्ट्र के लोग इस दिन को नारली पूर्णिमा बुलाते हैं। और समुद्र देवता की पूजा करते हैं। हालांकि इस दिन कई तरह के उत्सव मनाए जाते हैं। लेकिन उनमें सबसे लोकप्रिय और प्रमुख त्यौहार होता है। रक्षाबंधन का।


rakhi-message-for-brother


रक्षा बंधन का त्यौहार हर साल सावन मास की पूर्णिमा तिथि के दिन मनाया जाता है। जिसे राखी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। भाई बहन के प्रेम का प्रतीक पर्व भारत वर्ष में खासा लोकप्रिय है। इस दिन सभी बहनें अपने भाइयों की समृद्धि के लिए उनकी कलाई पर रंग-बिरंगी राखियां बांधती है। भाई अपनी बहनों को उनकी रक्षा का वचन देते हैं।


साल 2022 रक्षाबंधन पर्व की तिथि, शुभ मुहूर्त, भद्रा काल का समय, व पूजा विधि।


सबसे पहले बात करते हैं रक्षा बंधन 2022 शुभ मुहूर्त की।


सावन मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि प्रारंभ होगी - 11 अगस्त 2022,सुबह 10 बजकर 38 मिनट से और समापन- 12 अगस्त 2022, सुबह 07 बजकर 06 मिनट पर


रक्षाबंधन में भद्रा काल प्रारंभ होगी - 11 अगस्त 2022, सुबह 10 बजकर 38 मिनट से और समापन होगी- 11 अगस्त 2022, रात 8 बजकर 51 मिनट पर


रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त होगा - 11 अगस्त, 2022 को 08:51 अपराह्न से रात्रि 09:12 बजे तक


When Is Rakshabandhan (रक्षाबंधन कब है)


अभिजीत मुहूर्त - 12 अगस्त 2022, को सुबह 11 बजकर 59 मिनट से रात 12 बजकर 52 मिनट तक शुभ चौघड़िया समय होगा - 12 अगस्त 2022, दोपहर 12 बजकर 25 मिनट से 02बजकर 05 मिनट तक



रक्षा बंधन मुहूर्त से जुड़े कुछ जरूरी नियम।


शास्त्रों के अनुसार रक्षा बंधन पर्व से जुड़े कुछ जरूरी नियम बताए गए हैं। जिन्हें ध्यान में रखना चाहिए। रक्षा बंधन का त्यौहार सावन मास में उस दिन मनाया जाता है। जिस दिन पूर्णिमा अपराहन काल में पड़े। यदि पूर्णिमा तिथि के समय अपराहन काल में भद्रा हो तो भद्रा काल में रक्षा बंधन नहीं बनाना चाहिए।

rakhi-messages

और यदि पूर्णिमा अगले दिन के शुरुआती तीन मुहूर्त में हो तो। इस पर्व से जुड़े सभी विधि-विधान अगले दिन के अपराह्न काल में ही किए जाने चाहिए। यदि पूर्णिमा तिथि अगले दिन के शुरुआती तीन मुहूर्तो में ना हो। तो रक्षा बंधन पहले ही दिन भद्रा काल के बाद प्रदोष काल में मनाया जा सकता है। मान्यताओं के अनुसार भद्रा काल के समय रक्षा बंधन का पर्व मनाना निषेध माना जाता है।

रक्षा बंधन पूजा विधि || Raksha bandhan quotes

रक्षा बंधन का त्यौहार भाई बहनों के आपसी प्रेम और स्नेह को दर्शाता है। आज के दिन सभी बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र या राखी बांधती है। और अपने भाई की दीर्घायु, समृद्धि व सुखी जीवन की कामना करती हैं। रक्षाबंधन के दिन अस्नान आदि के बाद भाई-बहन दोनों को मिल कर पूजा करनी चाहिए। पूजा से पहले पूजा की थाल सजाकर उसमें रोली, अक्षत, दीपक और राखी रख लें। पूजा के बाद बहने भाई को तिलक कर दाहिने कलाई पर रक्षा सूत्र बांधने के बाद मिठाई खिलाकर पूजा संपन्न करती हैं। राखी बंधवाने के बाद भाई बहनों को रक्षा का वचन और कुछ उपहार भेंट स्वरूप देते हैं। 


सावन पूर्णिमा का महत्व 


रक्षा बंधन का पर्व सावन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। यह पर्व भाई-बहन के अटूट रिश्ते को दर्शाता है। भारतीय परंपराओं के अनुसार यह पर्व भाई-बहन के स्नेह के साथ-साथ हर सामाजिक रिश्ते को मजबूत बनाता है। और साथ ही भाई बहनों के मजबूत रिश्ते के अलावा यह पर्व सांस्कृतिक और सामाजिक महत्व भी रखता है।


rakhi-quotes

Happy-Raksha-Bandhan-Status -Raksha-Bandhan-Status-in-Hindi-Rakhi-quotes-for-brother

Raksha-Bandhan-quotes

Raksha-Bandhan-quotes

Happy Raksha Bandhan Status, Raksha Bandhan Status in Hindi


Rakhi-2022
कच्चे धागों से बनी डोर है राखी,
प्यार और मीठी शरारतों की होड़ है राखी,
भाई की लम्बी उम्र की दुआ है राखी,
बहन के प्यार का धुआं है राखी।
Rakhi-2022
बहन का प्यार किसी दुआ से कम नहीं होता,
वो चाहे दूर भी हो तो गम नहीं होता,
अक्सर रिश्ते दूरियों से फीके पड़ जाते हैं,
पर भाई-बहन का प्यार कभी कम नहीं होता।
Raksha-Bandhan-2022

रेशम के धागों का है ये मजबूत बंधन,
माथे पर चमके चावल रोली और चन्दन,
जब प्यार से मिठाई खिलाये प्यारी बहना,
देख इसे भर आये मन छलक उठी नैन।

Raksha-Bandhan-Images


अक्सर याद आता है वो गुजरा हुआ जमाना,
तेरी मीठी सी आवाज में भैया कहकर बुलाना।

Raksha-Bandhan-Photo

तोड़े से भी जो ना टूटे, ये ऐसा मन बंधन है,
इस बंधन को सारी दुनिया कहती रक्षा बंधन है।

Raksha-Bandhan-Photos

आज ये लम्हा बहुत खास है,
बहन के हाथ में भाई का हाथ है,
बहना तेरा भाई हमेशा तेरे साथ है।

Raksha-Bandhan-quotes

सुख की छाँव हो या गम की तपिश,
मीठी सी तान हो या तीखी सी धुन,
उजियारा हो या अंधकार 
किनारा हो या बीच धार,
महफ़िल हो या तन्हाई,
हर हाल में तेरे साथ है तेरा भाई।
 
raksha-bandhan-status

हमारी खूबियों को अच्छे से जानती है बहनें,
हमारी कमियों को भी पहचानती है बहनें,
फिर भी हमें सबसे ज्यादा मानती है बहनें।
Raksha-Bandhan

Raksha Bandhan Status in Hindi

हे ईश्वर मेरी दुआओं में इतना असर रहे,
फूलों से भरा सदा मेरी बहना का घर रहे।
बहना ने भाई की कलाई से प्यार बाँधा है,
प्यार के दो तार से संसार बाँधा है,
रेशम की डोरी से संसार बाँधा है,
हमें दूर भले किस्मत कर दे,
अपने मन से न जुदा करना,
सावन के पावन दिन भैया,
बहनों को याद किया करना।
सावन के महीने में राखी का त्यौहार आता हैं
परिवार के लिए जो कि ढेरों खुशियाँ लाता हैं
रक्षाबन्धन के पर्व की कुछ अलग ही बात हैं
भाई-बहन के लिए पावन प्रेम की सौगात हैं
सब से अलग हैं भैया मेरा
सब से प्यारा है भैया मेरा
कौन कहता हैं खुशियाँ ही सब होती हैं जहाँ में
मेरे लिए तो खुशियों से भी अनमोल हैं भैया मेरा
बचपन की यादो का चित्रहार है राखी,
हर घर में खुशियो का उपहार है राखी,
शिक्षा का मीठेपन का एहसास है राखी,
भाई बहन का परस्पर विश्वास है राखी,
दिल का सुकून और मीठा सा जज्बात है राखी,
शब्दों की नही पवित्र दिलो की बात है राखी ।
भैया मेरे, राखी के बंधन को निभाना
भैया मेरे, छोटी बहन को न भुलाना
देखो ये नाता निभाना, निभाना
भैया मेरे...
Raksha-Bandhan-Shayari
ये दिन ये त्योहार खुशी का, पावन जैसे नीर नदी का
भाई के उजले माथे पे, बहन लगाए मंगल टीका
झूमे ये सावन सुहाना, सुहाना
भैया मेरे...
बाँध के हमने रेशम डोरी, तुम से वो उम्मीद है जोड़ी
नाज़ुक है जो दाँत के जैसे, पर जीवन भर जाए न तोड़ी
जाने ये सारा ज़माना, ज़माना
भैया मेरे...
शायद वो सावन भी आए, जो बहना का रंग न लाए
बहन पराए देश बसी हो, अगर वो तुम तक पहुँच न पाए
याद का दीपक जलाना, जलाना
भैया मेरे...
I am a student web designer, I can give you a WordPress website by designing a professional website and if you want to see what website I design, Click on this link. click here website demo

Post a Comment

© Status Clinic. All rights reserved. Distributed by StatusClinic